सुबह जल्दी उठकर पढ़ाई कैसे करें? पढ़ने के लिए सुबह 4 बजे उठने का बेस्ट तरीका 2024

सुबह जल्दी उठकर पढ़ाई कैसे करें? लोग सुबह में उठकर में उठकर पढ़ाई करना चाहते हैं उनके लिए सारे सवालों का जवाब देने वाला हूं. जिनसे कि वह जान सके कि सुबह उठकर पढ़ाई कैसे करते हैं? सुबह जल्दी उठकर पढ़ाई कैसे करें? (How to read in Morning in hindi)

हाय दोस्तों कैसे हो आप सब आशा करता हूं कि आप कुशल मंगल और अपने पढ़ाई में व्यस्त हो और उम्मीद है कि आप ऐसा ही आगे भी पढ़ते रहें। और अपने भविष्य की ओर अग्रसर रहें। जैसा कि आप जानते हैं कि यहां पर यानी कि हमारे और आपके लिए ज्ञान से भरी भंडार चहक भारत जो कि आपके पढ़ाई और कैरियर को लेकर एक से एक तरीके और टिप्स देते हैं। आज फिर से मैं आप लोग को एक बेहतरीन सा टॉपिक पर ज्ञान देने वाले हैं। बहुत सा विद्यार्थी के मन में यह होता है कि वह सुबह उठकर पढ़ाई करें, लेकिन वह किसी कारणवश सुबह में जल्दी उठ नहीं पाते हैं और पढ़ाई भी नहीं कर पाते हैं।

जब भी पढ़ते हैं दिन में या रात में ही पढ़ पाते है। इसलिए वे अक्सर इस दुविधा में होते हैं कि सुबह पढ़ाई कैसे किया जाता है? और कोई भी तो ऐसा टिप्स हो ताकि वह सुबह में जल्दी उठ सके, और पढ़ाई कर सकें, तो आज मैं उन्हीं बच्चों के लिए सुबह में पढ़ाई करने की टिप्स और तरीका लेकर आया हूं। जिनसे की आज के बाद अगर आपने इस तरीके को अपनाया तो 100% आप सुबह उठकर पढ़ाई करोगे। फिर आपकी आदत बन जाएगी। जिनसे की आप अपनी मंजिल को पाने के लिए ज्यादा से ज्यादा वक्त दे सके, वैसे तो सुबह पढ़ाई करने के अनेकों फायदे भी है। प्राचीन काल से है सुनते और देखते आ रहे हैं, कि एक विद्यार्थी को सुबह पढ़ाई जरूरी करना चाहिए। कम से कम एक घंटा भी समय निकालना चाहिए सुबह पढ़ाई करने के लिए,

इसके लिए ज्यादा चिंता करने के लिए जरूरत नहीं है। दोस्तों मैं आप लोग को सुबह में जल्दी उठ कर पढ़ाई करने की आसान तरीका बताऊंगा। जिनसे की आप सुबह में जल्दी उठ कर पढ़ाई कर सकें। आइए जानते हैं कि सुबह में उठकर पढ़ाई कैसे करें? सुबह में जल्दी उठकर पढ़ाई कैसे करें? Subah me jaldi uthkar padhai kaise karen hindi.

 

Contents hide

सुबह जल्दी उठकर पढ़ाई कैसे करें?

अगर आप पढ़ाई में बेहतरीन और परीक्षा में एक अच्छे नंबर से पास होना चाहते हैं तो सुबह पढ़ाई करना बहुत जरूरी है। सुबह में पढ़ाई करने के लिए सुबह जल्दी उठना बहुत जरूरी है। सुबह में 3:00 बजे से 4:00 के बीच उठ कर पढ़ाई कर सकते हैं। सुबह उठकर पढ़ाई करने से एकाग्रता वृद्धि होती है और पढ़े हुए भी बहुत जल्द याद हो जाते हैं। आप जो भी पढ़ेंगे अच्छे से समझ पाएंगे क्योंकि इस समय पूरे वातावरण शांत और मौसम बेहद अनुकूल होते हैं। ना तो इस समय कुछ ज्यादा गर्मी और ना ही ज्यादा ठंड होती है।

मैं केवल नॉर्मल दिनों के बात कर रहा हूं। सुबह जल्दी उठकर पढ़ाई करने के लिए आप उस रात में सोते वक्त अलार्म लगा सकते हैं। जो कि आप अपने समय अनुसार वक्त का चयन कर ले और मन में यह
संकल्प कर लें की हमें सुबह उठकर पढ़ाई करना है। ऐसा ना हो कि जब सुबह हो तो कल पर डाल दें ऐसा करने से आप कभी भी सुबह उठकर पढ़ाई नहीं कर सकते। जब तक कि आपके मन में दृढ़ संकल्प ना हो। दोस्तों सुबह पढ़ाई करने के लिए सुबह जल्दी उठना अनिवार्य है। आइए जानते हैं कि सुबह उठकर पढ़ाई कैसे करें?

 

 

पढ़ाई करने के लिए सुबह जल्दी कैसे उठे?

1. आलस से दूर रहें

सुबह जल्दी ना उठने का एक सबसे बड़ा मुख्य कारण यह है कि किसी भी विद्यार्थी को बहुत ज्यादा आलस होता है। और वह आलस के कारण है सुबह में जल्दी नहीं उठ जाते हैं। अगर आप सुबह में उठकर पढ़ाई करना चाहता है तो सबसे पहले अपने आलस को बाय-बाय कहना होगा। तभी यह संभव हो पाएगा कि आप सुबह उठकर पढ़ाई कर सकेंगे। नहीं तो जब तक आपके शरीर में आलस उत्पन्न होता रहेगा तब तक आप सुबह में उठ नहीं पाएंगे ना तो पढ़ ही पाएंगे। इससे निपटने का शानदार उपाय यह कि अपने शरीर से आलस को दूर भगाने होंगे।

मैं बताता चलूँ की सुबह उठने के लिए आलस को कैसे दूर भगाएं? इसका सबसे सरल सा उपाय यह की अपने मन में इच्छा शक्ति को जागृत कर लें और मन ही मन यह संकल्प करें कि कि हमें सुबह में उठना है। अगर आप फिर भी देख रहे हैं कि आलस दूर जाने का नाम ही नहीं ले रहा है तो उसका एक मस्त सा उपाय यह है की सुबह में आप चाहे जैसे भी हो 3:00 या 4:00 बजे के बीच उठने की कोशिश करें। चाहे वह आप अलार्म लगा कर सो जाएं और अलार्म की घंटी बजते उठ जाए और सबसे पहला काम करना है कि अपने बेड छोड़ दें और अपने मुंह पर पानी डालें उसके बाद थोड़ी बहुत टहल लें ऐसा करने से द्वारा नींद नही आ पायेगी।

 

 

2. पढ़ाई के लिए जिम्मेदार बनें

आप सुबह के लिए पढ़ने की कोशिश करते हैं तो सबसे पहले आपको खुद को दृढ़ संकल्पित और जिम्मेदारियां बनानी पड़ेगी। ताकि आप नियमित पढ़ाई कर सकें। और जितना हो सके पढ़ाई की ओर आकर्षित हो और अपने आसपास के बच्चों या वैसे जो आपको लगता है कि यह लाइफ में कुछ कर सकता है उनका एक प्रकार से समझ लीजिए कि हमें उनसे कंपटीशन करना है। आप भी अपना एक लक्ष्य बनायें जो कि आपको सुबह उठने के लिए मदद कर सकें जैसा कि आपको बताया जा चुका है कि सुबह में पढ़ाई करना बहुत ही उत्तम समय माना जाता है। सुबह के समय पढ़ाई करने का मतलब यह है कि एक घंटा के पढ़ाई भी आपके दिन भर की 4 घंटे के बराबर होगी।

 

3. सुबह उठने के लिए अलार्म लगाएं

वैसे तो पहली बार सुबह सुबह उठ पाना बहुत मुश्किल काम आता है। लेकिन इसका कोई उपाय के तौर पर देखा जाए तो वह है अलार्म, आप जब भी प्लानिंग करें कि सुबह में हमें उठकर पढ़ाई करना है तो ठीक पढ़ाई करने से 10 मिनट पहले का अलार्म लगाएं। साथ में यह ध्यान रखना है की जब भी अलार्म की घंटी सुनाई दे तो करना यह आलस ना दिखाकर उठने की कोशिश करें।

 

फोन या अलार्म अपनें बेड से थोड़ी दूर पर रखें ताकी आपका हाथ आसानी से नहीं पहुंच पाए और उसको बंद करने के लिए आप उठकर जाना पड़े। जिससे कि आपको सुबह उठने में मदद मिल सके उसके बाद अलार्म बंद करने के बाद ऐसा ना हो कि फिर से आकर बेड पर सो जाए। उसके बाद ध्यान रखें कि जब भी आप अलार्म बंद करते हैं दोबारा बेड पर आने की कोशिश मत करिए पहले अपने मुँह जाकर धो सकते हैं उसके बाद तहल भी सकते हैं। जिससे नींद को भगाया जा सकती है।

 

4. रात में जल्दी सोए

आप सुबह उठकर पढ़ाई करना चाहते हैं तो ज्यादा कोशिश करें की सोने का वक्त भी आपका नियत हो ऐसा नहीं है कि 2:00 या 1:00 बजे आप सो रहे हैं तो संभव नहीं है कि 4:00 बजे उठ जाएंगे। अगर 4:00 बजे उठ भी जाते हैं तो ऐसा हो सकता है की सुबह पढ़ने के लिए अगले दिन से आपका हेल्थ खराब हो सकता है। पढ़ाई के साथ आपका हेल्प भी अच्छा होना जरुरी है। इसके लिए जल्दी सोए और जल्दी सुबह उठ जाएं फिर पढ़ाई कर सकें। पूरी रात पढ़ाई करने से कोई फायदा तो नहीं होने वाला है। उससे अच्छा पढ़ाई थोड़े ब्रेक लेकर करें। वह ठीक रहेगा, उसके बाद सुबह 3:00 बजे से 4:00 बजे के बीच में पढ़ाई करें ऐसा करने से आपकी नींद भी पूरी हो जाएगी। और दिन भर के लिए आप ऊर्जावान महसूस करेंगे। जिससे कि आप दिन के भी पढ़ाई पूरी वही लगन और जोश के साथ कर कर पाएँगे।

 

सुबह कितने बजे उठकर पढ़ाई करनी चाहिए?

सुबह में पढ़ाई करने के लिए कम से कम 3:00 बजे से 4:00 बजे के बीच में उठ जानी चाहिए। जिससे की आपको पढ़ाई करने के लिए उपर्युक्त समय मिल सके। लेकिन मैं बता दूँ की सुबह में पढ़ाई करने के लिए कोई समय की अनिवार्यता नही है। बहुत से ऐसे भी छात्र हैं जो सुबह के 2:00 बजे से ही पढ़ाई शुरु कर देते हैं। वह समय का आप अपने जरुरत के अनुसार फिक्स कर सकतें हैं।

 

सुबह जल्दी उठकर पढ़ने से क्या होता है?

यह बहुत से विद्यार्थी भाईयों का सवाल होता है की आखिर सुबह जल्दी उठकर पढ़ाई करने से क्या होता है? तो उसका भी जबाव है की सुबह में पढ़ाई करने के लिए उपर्युक्त और सबसे उत्तम समय इसलिए माना गया है की इस वक्त माहौल शाँत होता है। एक यह भी है की सुबह की पढ़ाई तो सोने के बाद ही मतलब की जागने के बाद ही किया जाता है। तो ऐसे में होता यह है की जब मनुष्य गहरी नींद में जाता है तो दिमाग को भी आराम मिलता है जिससे की सुबह के समय ज्यादा ऐक्टिव होता है। जिससे की विद्यार्थी जो भी पढ़ाई करता है वह भलीभांति समझ में आता है इस वक्त याद भी बहुत जल्द हो जाता है।

 

विद्यार्थी को सुबह कितने बजे उठना चाहिए?

सुबह उठकर पढ़ाई करने के लिए वैसे तो कोई समय सीमा नहीं है लेकिन हां आप अपने अनुसार वैसा समय फिक्स करेंगे मैं आप पढ़ाई करते करते ज्यादा लेट ना होना पढ़ाई करने के बाद भी आपके बाकी दिनचर्या के लिए बहुत से निकल सके जिसके बाद अभी स्कूल कोचिंग और बाकी क्रिया कर्म देख कर सके सुबह जल्दी उठकर पढ़ाई करने के लिए 3:00 बजे से 4:00 बजे तक एक विद्यार्थी को उठ जाना चाहिए। ताकि उनके लिए पढ़ने का वक्त मिल सके। सुबह उठने का मतलब यह नहीं होता है कि आप 8:00 बजे उठकर पढ़ रहे हैं। सुबह की पढ़ाई का फायदा तभी होगा जब आप 3:00 बजे से 5:00 बजे तक के बीच में उठकर पढ़ते हो जिससे कि सुबह पढ़ाई करने का महत्व का अनुमान हो सके।

 

सुबह में क्या पढ़ना चाहिए?

सुबह में पढ़ाई करने के गुण से अवगत तो हो ही चुके होंगे चलिए अब ये भी जान लेते हैं की सुबह में क्या पढ़ना चाहिए? जब भी सुबह में पढ़ाई करने के लिए बैठे वैसे विषय को पढ़ें जिसको याद करना है। उन्हें पढ़ने में थोड़ी दिमाग लगाने की जरूरत होती हो जैसे की गणित इस समय हल करने से दिमाग में बहुत जल्दी समझ में आ सकता है। सुबह पढ़ाई करने के पहले यानी कि रात में एक चार्ट बना सकते हैं जिसमें सुबह में पढ़ने जाने वाले विषय या टॉपिक की सूची बना सकते हैं और इसके अनुसार सुबह में पढ़ सकते हैं। ज्यादा कोशिश यही करें की जो भी टॉपिक को याद करना है उसे सुबह में ही पढ़ने की कोशिश करें।

 

 

सुबह में पढ़ाई करने के फायदे

अब जानते हैं कि सुबह में पढ़ाई करने क्या फायदे हैं जैसा कि आप जानते हैं की सुबह में पढ़ाई करने के लिए शिक्षक या घर के बड़े लोगों के द्वारा भी सुझाएं जाते हैं ऐसे में मन में यह सवाल का होना आम बात है की आखिर सुबह की पढ़ाई में ऐसा क्या है की लोग सभी को सुबह में पढ़ाई करने के लिए कहते हैं।

 

सुबह जल्दी उठकर पढ़ने के फायदे

1. शांत वातावरण का होना

सुबह में पढ़ाई करने के फायदे यह है की सुबह के समय वातावरण शुद्ध व शांत होता है और आप इस वक्त अपने पढ़ाई के ऊपर पूरी एकाग्रता के साथ ध्यान दें पाते हैं।

सुबह के वक्त शांति का कोई जबाव ही नही है इस वक्त सारी दुनियां का धीरे धीरे शुरूआत हो रही होती है और सभी लोग भी अपनी काम के लिए तैयार हो रहे होते हैं।

 

2. दिमागी प्रभाव ज्यादा होना

सुबह में पढ़ाई करने के लिए उपयुक्त वक्त का मानना एक यह भी हैं क्योंकि आप इस वक्त सो कर उठते हैं और सोने के उपरांत दिमाग ज्यादा प्रभावी ढंग से कार्य करने के लिए तैयार होते हैं अतः इस वक्त पढ़ाई करने से पढ़ी गई सारे विषय अच्छे से याद हो जाते हैं।

 

3. आसानी से याद होना

सुबह में पढ़ाई करने का एक फायदा यह भी है की सुबह के समय पढ़ने से टॉपिक याद बहुत जल्द ही जाते हैं। बहुत सारे टॉपर का मानना है की सुबह के समय किसी भी टॉपिक को याद किया जाए तो वह आसानी से याद हो जाता है।

हर छात्र के लिए याद करना एक कठिन समय होती है और यही तो है परीक्षा के समय जितनी ज्यादा पुस्तकें याद होते हैं उसके समझ होते हैं उतना ही सवालों की जवाब दे पाते हैं। तो अगर आपको किसी भी चीज को याद करने परेशानी होती है तो आप सुबह के समय याद करने की कोशिश कर सकते हैं।

 

4. पढ़ने के लिए ज्यादा समय मिलना

आप सोच कर देखो अगर सुबह के समय आप सोने में समय को व्यर्थ कर देते हो तो इससे आपको किसी भी प्रकार की फायदे तो हैं नहीं लेकिन अगर आपके पास वक्त का कमी है तो इस वक्त पढ़ाई करने के लिहाज से अच्छा साबित हो सकता है और इस वक्त एक्स्ट्रा समय के रूप में इसे उपयोग में ला सकते हैं।

 

वैसे भी सोच के देखें की माना की सुबह में पढ़ाई नहीं करते हैं तो वह समय तो सोने में ही चला जाएगा और पढ़ाई करने के लिए तो 2 से 3 घंटे की वक्त नही मिल रहा है और वही अगर इस वक्त का सदूपयोग करें और इस समय पढ़ाई किया जाए तो आप औरों से 2 घंटा ज्यादा पढ़ाई कर रहे हैं इसका मतलब यह है की आप दूसरों से ज्यादा आगे होंगे क्योंकि आपके मेहनत और लगन अधिक है।

 

5. अभ्यास के लिए उपयुक्त समय

अगर आप रात में पढ़े और उसे पुनः सुबह में अभ्यास करें तो चीजें अच्छी से समझ में आने लगेंगे और इस वक्त अभ्यास करने से लंबे समय तक याद भी रखा जा सकता है।

वैसे भी अगर आपके पास में वक्त की कमी के कारण आप किसी भी विषय में पीछे हैं तो इस वक्त पढ़ने के लिए चुने और उस कमी को सुबह के समय पढ़ कर पूरा किया जा सकता है।

 

 

6. ज्यादा ऊर्जावान महसूस करना

अगर आप सुबह में उठकर पढ़ाई करते हैं तो आप ऐसा महसूस कर सकते हैं की आपके शरीर में ज्यादा शक्ति का प्रभाव दिख रहा है वह ऐसा इसलिए की आपके शरीर इस समय रिलैक्स और ज्यादा fresh महसूस करता है। जब आप सोते हैं तो दिन भर की सारी थकावट और चिंता दूर हो जाता है।

सुबह के समय सारी दुनियां के लिए एक नया सवेरा होता है यूं माने तो सबकी जीवन का शुरूआत पुनः हो रहे होते हैं जैसा की आपने देखें होंगे की नए फूल की नई कली फूल से ज्यादा चमक वाले होते हैं इसलिए आप के दिमाग भी ठीक वैसा ही इस वक्त काम कर रहा होता है बिलकुल एक नई मशीन के तरह जो हर कार्य करने के लिए उपयुक्त होता है।

 

7. शांत माहौल

सुबह में पढ़ाई करने के फायदे देखने के लिए अगर आप अहले सुबह उठते हैं तो आपके घर में देखेंगे की बाकी लोग सो रहे होंगे इसी प्रकार मोहल्ले भी बिल्कुल शांति में डूबी होगी और ऊपर से इस सुबह की शीतल हवा के बीच पढ़ाई करने का एहसास ही अलग होती है।

गर्मी के समय कोशिश करें की सुबह के समय छत या खुली जगह पर पढ़ाई करें जिससे ताजी हवा और वातावरण का महसूस आप कर सकें। लेकिन शर्दियों के मौसम में बाहर पढ़ने से बचे और अपने कमरा में ही बैठ कर पढ़ाई करें।

 

सुबह में पढ़ाई करने के अनेकों फायदें हैं। इस समय पढ़ाई करने से पढ़ाई में अच्छे कर सकते हैं।

  • सुबह में माहौल शाँत होने के कारण पढ़ने में ज्यादा मन लग पाता है।
  • इस समय पढ़ने से दिमाग ज्यादा प्रभावशाली ढंग से समझ और सीख पाता है।
  • सुबह में पढ़ने से याद बहुत जल्दी होते हैं।
  • सुबह के समय दिमाग ज्यादा रिलैक्स होने के कारण ज्यादा प्रभावी होता है।
  • ऐसा माना जाता है की सुबह की समय याद करने का वक्त होता है।
  • सुबह में पढ़ने से एक फायदा यह भी है की पढ़ाई के लिए ज्यादा समय मिल जाता है।

जैसा कि आपको पहले भी सुबह में पढ़ाई करने की जानकारी दिया गया है आप चाहें तो इसे पढ़कर पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

निष्कर्ष: सुबह जल्दी उठकर पढ़ाई कैसे करें?

उम्मीद है की हमारे द्वारा पेश की गई जानकारी काफी पसंद आया होगा। जिसमें जाना की सुबह जल्दी उठकर पढ़ाई कैसे करें? विद्यार्थी सुबह जल्दी कैसे उठे? और सुबह में पढ़ाई करने के फायदें के बारे में जानकारी प्राप्त किया। और इस टॉपिक के जरिए सुबह में पढ़ाई करने से जुड़ी सारे सवालों के जवाब मिल गया होगा। आप अपने दोस्तों में इसे शेयर जरूर करें ताकी ज्यादा से ज्यादा लोग हमसे जुड़ कर अपनी ज्ञान में वृद्धि कर सकें।

किसी भी प्रकार के प्रश्न या सुझाव हमें कमेंट या कॉन्टैक्ट के माध्यम से दे सकतें हैं। हमारी ओर से यथासंभव आपके प्रश्नों की जवाब सफलतापूर्वक दिया जायेगा। हमें इन्तजार है आपके प्रश्नों का,

Leave a Comment