बच्चों की पढ़ाई को रोचक कैसे बनाएं? अब बच्चें अपनी मर्जी से करेंगे पढ़ाई जाने कैसे

बच्चों की पढ़ाई को रोचक कैसे बनाएं?
बच्चों की पढ़ाई को रोचक कैसे बनाएं? अब बच्चें अपनी मर्जी से करेंगे पढ़ाई जाने कैसे

 

बच्चों की पढ़ाई को रोचक कैसे बनाएं? ज्यादा तर बच्चे पढ़ाई करने में आनाकानी करते ही हैं क्योंकि उनके इस उम्र में पढ़ने से ज्यादा खेलने और मस्ती करने में उन्हें ज्यादा मन लगता है, और वे उसी काम को ज्यादा करते हैं जिसमें उन्हें ज्यादा मजा आता हो ऐसे में हर पैरेंट्स का चिंता होना आम बात है की उनके बच्चे नही पढ़ रहे हैं तो ऐसे में चलिए जानते हैं की बच्चों की पढ़ाई को रोचक कैसे बनाएं?

नियमित पाठक को पता ही होगा की चहक भारत की मदद से पढ़ाई से जुड़े सवालों का जवाब आसानी से उपलब्ध हो जाते हैं ऐसे में आप भी जानना चाहते हैं की अपने सवालों को खोजने के लिए क्या करें? आपका कोई भी सवाल हो तो आप अपने सवालों को इस तरह से सर्च करें,अपनी सवाल चहक भारत जैसे की bacchon ki padhai ko rochak banane ka asan tarika chahak bharat बस इतना सा काम आपको सटीक जवाब ढूंढने में मदद कर सकता है।

चलिए बच्चों की पढ़ाई के बारे में बाते करते हैं, बच्चे को पढ़ाने के लिए बहुत से नखरे सहने और देखने पड़ते हैं नही तो बच्चें कभी पढ़ ही नहीं सकते क्योंकि उन्हें शुरुआती के दिनों में पढ़ाई करने का बिलकुल भी मन नहीं करता है। तो जानते हैं ऐसा क्या करें जिससे बच्चें पढ़ने के लिए खुशी खुशी राजी हो जाए। बच्चों की पढ़ाई को रोचक कैसे बनाएं? Bacchon ki padhai ko rochak kaise banayen?

 

बच्चों की पढ़ाई को रोचक कैसे बनाएं?

बच्चों को पढ़ाने के लिए उन्हें उसी तरह की माहौल होना चाहिए जिसमें बच्चें खुद को आरामदायक और स्वतंत्र महसूस कर सके ऐसी में बच्चे की पढ़ाई को रोचक बनाने के लिए सबसे पहले तो बच्चों को पढ़ने की पूर्ण आजादी देन वे जो चाहे वह पढ़े इसमें किसी भी प्रकार की कोई पाबंदी नहीं होनी चाहिए। साथ ही बच्चों को पढ़ाते वक्त यह भी ध्यान रखें की उन्हे आप जो पढ़ा रहे हैं या पढ़ाना चाहते हैं उसमें बच्चे अपनी रूचि दिखा रहे हैं अगर नही तो बच्चें की पढ़ाई को रोचक बनाएं।

बच्चें की पढ़ाई को रोचक बनाने का तरीका

1. पढ़ने की पूर्ण आजादी दें

अगर आप बच्चे से यह उम्मीद रखते हैं की वह आपके बातों को ध्यान से सुने तो सबसे पहले आपको बच्चें की बात को सुनना और समझना पड़ेगा तभी बच्चें पढ़ पाएंगे। बच्चें की पढ़ाई को रोचक बनाने के लिए उन्हें ऐसा महसूस ना होने दें की उन पर किसी भी प्रकार की कोई पाबंदी या पढ़ने के लिए दबाव बनाया जा रहा है।

उन्हें पढ़ने के लिए पूरी आजादी दें उनका जो भी मन हो वह पढ़ेंगे नही मन होगा तो नही पढ़ेंगे लेकिन इसमें कोई चिंता करने वाले बात नही है, इसी समस्या को समाधान बताने वाला हूं, वैसे भी छोटे बच्चें को पढ़ने में कोई पाबंदी नहीं होनी चाहिए क्योंकि वह अनमोल वक्त इसी समय है जब वे अपनी रूचि के अनुसार आगे की पढ़ाई की ओर जा सकते हैं।

 

2. कविता सुनाए

छोटे बच्चें पढ़ाई को ज्यादा तवज्जो नहीं देते हैं तो जरूरत है की उनको किसी भी तरह से उन्हें पढ़ाई की ओर आकर्षित करना है। इसके लिए आप अपने स्कूल या घर पर उन्हें रोजाना उन्हें छोटी छोटी कविताएं सुनाएं और पीछे पीछे बोलने को कहें। अगर स्कूल में अन्य बच्चों के साथ भी ऐसा Activity को कराएं इस प्रकार से बच्चें को यह एक खेल खेल में पढ़ने का मौका मिलेगा और वे रोजाना इस तरह की एक्टिविटी करने के लिए कह सकता है।

 

3. बच्चें को कहानियां सुनाएं

अगर बच्चें पढ़ाई में किसी भी तरह की रुचि नहीं दिखा रहे हैं तो आपको जरुरी है की पढ़ाई को बच्चे के लिए रोचक बनाने का तो पढ़ाई को रोचक बनाने के लिए बच्चें को रोजाना कहानियां सुना सकते हैं। इस तरह से कहानी को बच्चें की समक्ष रहें जिससे बच्चों की दिमाग में आसानी से छप जाए। इस तरह से पढ़ाई को रोचक बनाया जा सकता है।

 

4. बच्चें को डिजिटल कहानी कविता दिखाएं

आप अपने घर या स्कूल में अगर टीवी या कोई ऐसा उपकरण मौजूद है जिसके मदद से वीडियो को दिखाया जा सकता है तो रोजाना कुछ समय के लिए वीडियो वाले कविता और कहानियां दिखा सकते हैं। इसका मेरा माने तो स्कूल की लास्ट घंटी में शामिल करें जिससे बच्चें दिन भर मन लगाकर पढ़ाई करेंगे, आप चाहे तो बच्चों को रोजाना टास्क भी दे सकते हैं और शर्त रख सकते हैं की इसे याद या बनाने के बाद ही आप लोगों को कहानियां दिखाया जाएगा।

 

5. बच्चें की मन को जाने

पढ़ाई को रोचक बनाने के लिए ऐसा नहीं है की सिर्फ आपका ही मर्जी चले कुछ बच्चों की भी मदद लेना आवश्यक है। बच्चों से पूछे की उन्हें किस तरह की विषय को पढ़ने में ज्यादा मन लगता है। उन्हें उसी प्रकार की विषय को ज्यादा से ज्यादा पढ़ाएं जिससे बच्चें को पढ़ने के दौरान किसी भी प्रकार से कोई दिक्कत ना हो और वे पढ़ने के ऊपर ध्यान दे सकें।

आपने जाना पढ़ाई को रोचक बनाने के तरीके जिससे बच्चों को पढ़ने के लिए आसानी से आकर्षित किया जा सकता है।

 

निष्कर्ष: बच्चों की पढ़ाई को रोचक कैसे बनाएं?

आशा और उम्मीद है की आप आज की पोस्ट से संतुष्ट होगें जिसमें जाना की बच्चों की पढ़ाई को रोचक कैसे बनाएं? बच्चें की पढ़ाई को रोचक बनाने का आसान तरीका या उपाय जिसके मदद से बच्चों को पढ़ाने में शामिल किया जा सकता है और इस तरह से बच्चें रोजाना बीना किसी भी बहाने के स्कूल या पढ़ने के लिए बैठ सकते हैं।

1 thought on “बच्चों की पढ़ाई को रोचक कैसे बनाएं? अब बच्चें अपनी मर्जी से करेंगे पढ़ाई जाने कैसे”

Leave a Comment